The President of India, Shri Ram Nath Kovind in a group photograph with the probationary officers from different Railways Services, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on January 10, 2018.

नई दिल्ली। विभिन्न रेल सेवाओं के प्रोबेश्नरों के एक समूह ने आज राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। इस अवसर पर राष्ट्रपति ने कहा कि भारतीय रेल राष्ट्र सेवा और राष्ट्र निर्माण की एक अहम संस्था है। अकेले 2015-16 के दौरान ही भारतीय रेल ने 8 अरब से अधिक यात्रियों की सेवा की। उन्होंने कहा कि रेल नेटवर्क हमारी सांस्कृतिक विरासत और परंपरा का प्रसार करता है। चाहे वह कुंभ मेला के अवसर पर चलाई जाने वाली विशेष गाड़ी हो या ‘पैलेस ऑन व्हील्स’ जैसी शाही गाड़ी हो, इन सब के प्रति दुनियाभर के लोग आकर्षित होते हैं।
राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे शहरों के बीच रेलगाड़ी तीव्र जन-यातायात के रूप में उभर रही है। मेट्रो परियोजनाओं को तमाम शहर तेज, सुरक्षित और सस्ते यातायात के तौर पर अपना रहे हैं। इससे कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी और शहरों को जाम की स्थिति से मुक्ति मिलेगी। राष्ट्रपति ने प्रोबेशनरी अधिकारियों को याद दिलाया कि वे लोग एक ऐसी संस्था में शामिल हो रहे हैं, जहाँ उन्हें प्रतिदिन लाखों शहरियों और देश की सेवा करने का अनोखा अवसर प्राप्त होगा। उन्होंने प्रोबेशनरों अधिकारियों का आह्वान किया कि वे सकारात्मक नजरिया विकसित करें, जिससे उनके कार्यस्थलों औऱ समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में मदद मिलेगी।