वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में भाग लेने के लिए मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंच गए हैं। बाबतपुर एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विशेष विमान से जैसे ही विमानतल पर उतरे वहां पहले से मौजूद प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल राम नाईक, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पुष्पगुच्छ देकर गर्मजोशी से उनका स्वागत किया। विमान तल पर ही विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह सहित प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों, महापौर मृदुला जायसवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष अपराजिता सोनकर, भाजपा के विधायकों, पदाधिकारियों ने भी प्रधानमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया। थोड़ी देर औपचारिक बातचीत के बाद प्रधानमंत्री बड़ालालपुर स्थित पंडित दीनदयाल हस्तकला संकुल में आयेाजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में भाग लेने के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच रवाना हो गए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का औपचारिक उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री उद्घाटन सत्र के बाद मॉरीशस के अपने समकक्ष प्रविंद जगन्नाथ से बातचीत करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री मेहमानों को खास दावत भी देंगे। इसमें चयनीत मेहमानों को शामिल किया गया है। इस मौके पर नार्वे के युवा सांसद हिमांशु गुलाटी, न्यूजीलैंड के सांसद कंवलजीत सिंह बख्शी की खास उपस्थिति रहेगी।

उल्लेखनीय है कि प्रवासी भारतीय दिवस मनाने का फैसला 2003 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था। पहला कार्यक्रम उस साल नौ जनवरी को देश की राजधानी दिल्ली में हुआ था। इस कार्यक्रम के लिए नौ जनवरी का चयन इसलिए किया गया था क्योंकि 1915 में इसी दिन महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे। प्रवासी भारतीय दिवस हर दो साल पर मनाया जाता है। यह प्रवासी भारतीयों को अपनी जड़ों से फिर से जुड़ने के लिए एक मंच प्रदान करता है।