नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री और सांसद श्री संतोष गंगवार का मेहनत रंग लाया। लगातार जनता की मांग को बल मिला। बरेलीवासियों का सपना अब साकार हुआ। बरेली शहर के लोगों का 22 वर्षों का इंतजार रविवार सुबह खत्म हुआ जब हवाई उड़ान के लिए बरेली सिविल एन्क्लेव का उद्धाटन हुआ। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने टेली कांफ्रेसिंग के जरिए बरेली सिविल एन्क्लेव का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने आम लोगों के लिए बरेली एयरपोर्ट खुलने की बात कही साथ ही जल्द उड़ान शुरू होने का भरोसा भी दिलाया।

उड़े देश का आम नागरिक योजना के तहत अब यहां से आम नागिरक किफायत दामों पर फ्लाइट का सफर कर पाएंगे। बता दें न्क्।छ की घोषणा अक्टूबर 2016 में की गई और इसकी शुरुआत अप्रैल 2017 में हुई थी। यह मोदी सरकार की प्रमुख योजनाओं में शामिल है। इसके तहत प्रति घंटे उड़ान (करीब 500 किलोमीटर की यात्रा ) के लिए 2,500 रुपए का किराया लिया जाता है।
आम लोगों के लिए यह सेवा 15 अप्रैल से शुरू की जाएगी। बताया जा रहा है कि 15 अप्रैल के बाद ही उड़ान के लिए बुकिंग शुरू होगी। सिविल एन्क्लेव से दिल्ली और लखनऊ के लिए हवाई यात्रा शुरू की जाएगी। इसके लिए जेट एयरवेज कंपनी ने एयरफोर्स से 15 अप्रैल से ही उड़ान शुरू करने की अनुमति मांगी है। उड़ान का पूरा संभावित शेड्यूल भी जारी किया है। एयरफोर्स से अनुमति मिलने की स्थिति में 15 अप्रैल से उड़ान की सुविधा लोगों को मिलेगी। एयरपोर्ट आॅथरिटी आॅफ इंडिया के अनुसार, लखनऊ से 72 सीटों वाली पहली फ्लाइट सुबह बरेली हवाई अड्डे पर लैंड करेगी और सुबह 9.50 बजे दिल्ली के लिए उड़ान भरेगी। दिल्ली से वापसी की उड़ान दोपहर 12.55 बजे है जो करीब 1.20 बजे लखनऊ पहुंचेगी।