आजमगढ़/बलरामपुर (उप्र)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि 2014 में लोगों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर वोट दिये थे लेकिन इस बार उनका (मोदी) नाम भी है और काम भी है। योगी ने आजमगढ़ की एक चुनावी सभा में कहा, ‘2014 में लोगों ने मोदी जी के नाम पर वोट दिये थे, लेकिन 2019 में मोदी जी का नाम भी है और काम भी है।’’ उन्होंने सपा-बसपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘देश में 23 मई को जब एक बार फिर से मोदी सरकार आएगी तो बुआ (बसपा प्रमुख मायावती) बोलेगी कि बबुआ (सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव) ‘गुंडों का सरताज’ है।’’

योगी ने कहा कि प्रदेश में अब जो भी कानून को अपने हाथ में लेगा, उसका स्थान या तो जेल में है या फिर ‘राम नाम सत्य की यात्रा’ है। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ में एक भी विश्वविद्यालय नहीं था, लेकिन जब हम पिछली बार आए तो इसकी स्वीकृति हमने दी थी और आने वाले समय में हम ही इसका उद्घाटन करेंगे। योगी ने बलरामपुर की चुनावी सभा में कहा कि प्रदेश के अंदर पहले जिन भूमाफियाओं ने सत्ता के संरक्षण में जमीनों पर कब्जा किया था, उन्हें हमारी सरकार आते ही कब्जा मुक्त कराकर उस पर गरीबों के लिए काम करने में लाया गया।

उन्होंने कहा कि पहले ‘‘गुंडों’’ ने आम लोगों और व्यापारियों का जीना हराम कर रखा था। सपा-बसपा के काल में इन्हें संरक्षण दिया जाता था। लेकिन हमारी सरकार आते ही इन्हें साफ कह दिया गया कि चाहे तो इनकी जगह जेल में है या फिर ‘राम नाम सत्य की यात्रा’ है। योगी ने कहा कि आज एक तरफ आतंकवादियों को साफ करने वाली सरकार है तो दूसरी तरफ आतंकवादियों को संरक्षण देने वाले लोग हैं। अब आपको तय करना है किसकी सरकार चाहिए। उन्होंने कहा कि आज पूरे प्रदेश में बिजली एक समान मिल रही है लेकिन सपा-बसपा काल में बिजली नहीं मिलती थी क्योंकि चांदनी रात चोरों को अच्छी नहीं लगती है। अंधेरी रातों में ये सब लूटपाट करते थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज कांग्रेस के नेता खुद बोलते हैं कि कांग्रेस प्रदेश में वोटकटवा है। वैसे भी कांग्रेस का हाथ देशद्रोहियों के साथ है।