देहरादून। उत्तराखंड के देहरादून में तटरक्षक भर्ती केन्द्र खोला जायेगा । यह भारत का पाँचवा तटरक्षक भर्ती केन्द्र होगा और 28 जून को मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत हर्रावाला के कुआंवाला में इस भर्ती केन्द्र के लिए भूमि का शिलान्यास करेंगे।
मुख्यमंत्री से रविवार को यहां मिलने आये महानिदेशक तटरक्षक राजेन्द्र सिंह ने उत्तराखण्ड में तटरक्षक भर्ती केन्द्र खोलने के लिए भारत सरकार का अनुमति पत्र उन्हें सौंपा। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, नोएडा, मुम्बई, चेन्नई व कोलकत्ता के बाद यह उत्तराखण्ड में पांचवां भर्ती केन्द्र होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में तटरक्षक भर्ती केन्द्र खुलने से प्रदेश के युवाओं को रोजगार के अच्छे अवसर मिलेंगे। उत्तराखण्ड को आपदा की दृष्टि से संवेदनशील बताते हुए रावत ने कहा कि तटरक्षक राज्य आपदा मोचन बल :एसडीआरएफ: को आपदा से राहत व बचाव के तरीकों के लिए प्रशिक्षण भी देगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड सैन्य प्रदेश है और प्रधानमंत्री ने उत्तराखण्ड को पांचवे सैन्य धाम के रूप में विकसित करने का संकल्प लिया है। उन्होंने डीजी तटरक्षक का आभार जताया कि उनके प्रयासों के फलस्वरूप पांचवां भर्ती केंद्र यहां खुल रहा है ।

सिंह ने कहा कि देहरादून में तटरक्षक भर्ती केन्द्र का पूरा खर्च केंद्र सरकार वहन करेगी । उन्होंने बताया कि केंद्र से 17 करोड़ रुपये भूमि के लिए और 25 करोड़ रुपये भवन निर्माण के लिए स्वीकृति मिली है। सिंह ने बताया कि लगभग डेढ़ साल में यह भर्ती केंद्र बनकर तैयार हो जायेगा तथा इसका लाभ उत्तराखण्ड के साथ ही उत्तरप्रदेश, हिमांचल प्रदेश व हरियाणा के युवाओं को भी मिलेगा।