कानपुर (उप्र)।  कानपुर जिले में दो विदेशी नागरिकों समेत तबलीगी जमात के छह सदस्यों के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद जिले के छह इलाकों को ‘रेड जोन’ घोषित कर दिया गया है। जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी ने रविवार को बताया कि दो विदेशी नागरिकों समेत तबलीगी जमात के छह सदस्यों के पिछले दिनों कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद संबंधित इलाके के एक किलोमीटर के दायरे को रेड जोन घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि चमनगंज स्थित हलीम प्राइमरी मस्जिद, कर्नलगंज की हुमायूं मस्जिद, बाबू पुरवा की सफा मस्जिद, सजेती की बड़ी मस्जिद और नौबस्ता तथा घाटमपुर को रेड जोन घोषित किया गया है।

तिवारी ने बताया कि रेड जोन घोषित किए गए इलाकों को संक्रमण मुक्त करने के आदेश दिए गए हैं। साथ ही इन क्षेत्रों में लोगों के आवागमन पर भी सख्ती से पाबंदी लगाई गई है। उन्होंने बताया कि ड्रोन कैमरे की मदद से लोगों की आवाजाही पर नजर रखी जा रही है औ गैर कानूनी तरीके से एकत्र होने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि रेड जोन घोषित किए गए इलाकों के एक किलोमीटर के दायरे में अवरोधक लगाए गए हैं। इस बीच, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अशोक शुक्ला ने बताया कि दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शिरकत करके 31 लोग कानपुर लौटे थे जिनमें से छह लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इनमें से 22 लोगों को लाला लाजपत राय अस्पताल में भर्ती कराया गया है वहीं नौ अन्य लोग उर्सला अस्पताल में भर्ती हैं। जिला प्रशासन ने उन सभी लोगों से सामने आकर कोविड-19 की जांच कराने की अपील की है जो तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे।