नई दिल्ली। लॉकडाउन के दौरान कलारी फंडेड क्षेत्रीय भाषा के सोशल गेमिंग प्लेटफॉर्म, विनजो, पर लूडो और कैरम जैसे सदियों से लोकप्रिय इंडोर गेम्स खेलने वालों की संख्या में 10 गुना बढ़ोतरी हुई है। अब लूडो और कैरम का डिजिटल अवतार लोगों को बहुत पसंद आ रहा है। कोरोनावायरस के चलते हुए लॉकडाउन के कारण लोग अपने घरों में सुरक्षित हैं। अब लोग अपने परिवार और दोस्तों के साथ जुड़ने और अच्छा वक्त गुजारने के लिए ऑनलाइन लूडो और कैरम जैसे गेम्स खेल रहे हैं और अपने बचपन की यादों को ताजा कर रहे हैं।

विनजो के इस प्लेटफॉर्म पर लूडो, कैरम और शतरंज जैसे गेम्स 12 क्षेत्रीय भाषाओं में लोगों को खेलने के लिए मिल रहे हैं। यहां यूजर्स को गेम के दूसरे खिलाड़ियों के साथ ऑडियो और वीडियो चैट करने और आकर्षक इनाम जीतने का मौका भी मिल रहा है। विनजो के प्लेटफॉर्म से यूजर्स को चार खिलाड़ियों के साथ खेले जाने वाले इस खेल में अपने दोस्तों को आमंत्रित करने का अवसर भी मिल रहा है। यह गेम्स वर्सेज मोड में भी खेले जा सकते हैं, जहां दो लोग सीधे एक-दूसरे से गेम खेलते हैं। इसके अलावा ये गेम एक प्राइवेट टूर्नामेंट के तौर पर भी खेले जा सकते हैं, जहां लोग एक-दूसरे को गेम खेलने के लिए आमंत्रित कर सकते हैं और आपस में फ्रेंडली कॉम्पिटिशन कर सकते हैं।

विनजो के प्राइवेट प्ले मोड में (वर्सेज और टूर्नामेंट मोड) में इन गेम्स को खेलने वाले खिलाड़ियों की संख्या में 5 गुना बढ़ोतरी हुई है। इससे यह स्पष्ट संकेत मिलता है कि लोग अपने दोस्तों, परिवार और अपने जान-पहचान के लोगों के साथ इन गेम्स को खेलने के लिए प्राथमिकता दे रहे हैं। वह अजनबी लोगों की जगह अपने परिजनों और प्रियजनों के साथ यह ऑनलाइन गेम्स खेल रहे हैं, जिनसे वह मिलना चाहते हैं, मगर कोरोना के चलते हुए अलगाव के कारण मिल नहीं पा रहे हैं। पहले इस तरह के गेम्स अजनबी लोगों के साथ खेलने का ट्रेंड था।

आईआईएम कोलकाता के पूर्व छात्र और एमबीए की पढ़ाई के दौरान इस शहर में रहे विनजो गेम्स के सहसंस्थापक पावन नंदा ने कहा, “कोलकाता में आप शाम को हर जगह कुछ मीटर की दूरी पर लोगों को एक साथ बैठकर कैरम खेलते देख सकते हैं। रोजाना उनकी शाम यही खेल खेलते हुए बीतती है। कैरम, लूडो और शतरंज जैसे इनडोर गेम्स ऑफलाइन खेलना भी लोग काफी पसंद करते हैं। हमने इन गेम्स को ऑनलाइन इसलिए लॉन्च किया है, ताकि लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को फॉलो करते हुए आपस में जुड़े रह सकें। पूरी तरह से सेल्‍फ-आइसोलेशन के इस दौर में हमने इस प्लेटफॉर्म पर हर गेम को मुफ्त में लॉन्च किया है, जिससे हमारे यूजर्स को एक दूसरे से अलग रहने के इस अप्रत्याशित दौर में आपस में जुड़े रहने में मदद मिल सके।”

कैजुअल गेमिंग के फ्रंट पर विनजो ने टेंसेंट गेम्स और गारेना के साथ हाल में साझेदारी की है। ये दोनों दिग्गज कंपनियां क्षेत्रीय भाषाओं के प्लेटफॉर्म से भारत की गहराई तक फैली जड़ों में मौजूद इन गेम्स को फिर से जीवित करने में काफी फायदा देख रही है। विनजो की इस महीने 30 और गेम्स को लाइव करने की योजना है, जिससे इस प्लेटफॉर्म की ओर नए लोगों को आकर्षित किया जा सके। इस प्रक्रिया को पारदर्शी और लोकतांत्रिक बनाने के लिए विनजो ने इस वर्ष की शुरुआत में डिवेलपर कंसोल भी लॉन्च किया है। इन दोनों प्लेटफॉर्म के यूजर्स की संख्या दिन पर दिन 30 से 40 फीसदी की दर से बढ़ रही है। पेड कन्वर्जन में 20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जिससे पता चलता है कि जो यूजर्स इस प्लेटफॉर्म पर पेमेंट कर रहे हैं, उनकी भावनाओं पर अब तक कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।