गुवाहाटी। कोविड-19 महामारी के कारण मार्च से बंद कामाख्या मंदिर रविवार को श्रद्धालुओं के लिए फिर से खुल गया। यह जानकारी मंदिर के अधिकारियों ने दी। मंदिर प्रबंधन समिति के डोलोई एम. सी. सरमा ने कहा कि मंदिर का ‘गर्भगृह’ श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेगा और वे केवल ‘परिक्रमा’ कर सकेंगे और मंदिर के मुख्य दरवाजे के बाहर पूजा कर सकेंगे। श्रद्धालुओं को कोविड-19 के कड़े प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

मंदिर के फिर से खुलने के बाद पहले दिन काफी कम संख्या में श्रद्धालु पहुंचे और उन्हें रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) से गुजरना पड़ा। उन्हें मंदिर में प्रवेश करने से पहले कोविड-19 से बचाव के लिए सैनिटाइजेशन चैंबर से भी गुजरना पड़ा। उन्होंने कहा कि पिछले तीन दिनों में जांच कराने वाले श्रद्धालु अपनी रिपोर्ट दिखाकर सीधे पहाड़ी के ऊपर दर्शन के लिए जा सकेंगे।

प्रत्येक श्रद्धालु को मंदिर परिसर में केवल 15 मिनट रहने की अनुमति है। मंदिर सुबह आठ बजे से सूर्यास्त तक खुला रहेगा लेकिन नवरात्रि और दुर्गा पूजा के दौरान दर्शन के समय में परिवर्तन होगा। सरमा ने कहा कि कामरूप मेट्रोपोलिटन जिला प्रशासन के साथ विचार-विमर्श के बाद ये उपाय किए गए हैं ताकि अधिकतम सामाजिक दूरी बनाए रखना सुनिश्चित किया जा सके।