नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय के हंसराज कॉलेज ने बुधवार को अपने परिसर में कोविड-19 आरटी-पीसीआर जांच केंद्र खोला। कॉलेज की प्रधानाचार्य रमा शर्मा ने को बताया, ‘‘आईसीएमआर और एनएबीएल ने इस प्रयोगशाला को मंजूरी दी है। ‘जेआईटीएम स्किल्स प्राइवेट लिमिटेड’ के साथ मिलकर कॉलेज ने इसे तैयार किया है। जांच केंद्र हर किसी के लिए खुला रहेगा।’’

शर्मा ने नौ मई को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य अधिकारियों को पत्र लिखकर कॉलेज के छात्रावास को कोविड-19 मरीजों के लिए 100 बिस्तरों का स्वास्थ्य केंद्र बनाने की पेशकश दी थी। उन्होंने विश्वविद्यालय के कर्मचारियों को कोविशील्ड टीका लगाने के लिए कॉलेज में टीकाकरण केंद्र बनाए जाने का भी अनुरोध किया था।

उन्होंने कहा, ‘‘शिवाजी कॉलेज में दिल्ली विश्वविद्यालय का स्वास्थ्य केंद्र कोवैक्सीन लगा रहा है तो हमने सोचा कि हम अपने परिसर में कोविशील्ड लगा सकते हैं लेकिन अगर हमें कोविशील्ड ओर कोवैक्सीन दोनों दिए जाते हैं तो हम खुश होंगे।’’ उन्होंने बताया कि कॉलेज के करीब आठ-दस कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए लेकिन अब वे स्वस्थ हो चुके हैं।

शर्मा ने पत्र में कहा था, ‘‘हंसराज कॉलेज जरूरत पड़ने पर हमेशा देश के साथ खड़ा रहा है। हंसराज कॉलेज में एक छात्रावास हैं जिसमें 200 लोग रहते है। हम इस छात्रावास को 100 बिस्तरों वाले आईसीयू केंद्र में बदलने के लिए तैयार हैं क्योंकि कोविड-19 मरीजों को अस्पतालों में बिस्तर नहीं मिल रहे हैं और इससे बेचैनी पैदा हो रही है।’’