Uttar Pradesh: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गुरुवार को जिस दलित महिला का शव मिला था, उसके पोस्टमार्टम से पता चला है कि उसकी गला घोंटकर हत्या की गई थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से यह भी पता चला है कि उसकी गर्दन भी टूटी हुई थी।
दो महीने पहले आठ दिसंबर को लापता हुई 22 वर्षीय महिला का शव गुरुवार को राज्य के एक पूर्व मंत्री के बेटे राजोल सिंह के आश्रम के पास से बरामद किया गया. क्षत-विक्षत शव कंबल में लिपटा मिला और सेप्टिक टैंक में फेंका गया था। ऑटोप्सी रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उसके साथ मारपीट की गई और उसके सिर पर दो चोटें देखी गईं।पीड़िता की मां ने दावा किया कि महिला के लापता होने पर पुलिस ने उसकी शिकायतों पर ध्यान नहीं दिया. “अधिकारियों ने कहा कि आपकी लड़की घर से भाग गई है। वह जल्द ही लौट आएगी। अधिकारियों ने हमें एसपी से मिलने तक नहीं दिया।” मामले में यूपी के पूर्व मंत्री फतेह बहादुर सिंह के बेटे राजोल सिंह से पूछताछ की जा रही है.

उन्नाव के एसएसपी शशि शेखर सिंह ने हालांकि निष्क्रियता के आरोपों को खारिज किया। “हमारी जांच जारी है। हम दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे। “दो महीने पहले लापता हुई 22 वर्षीय महिला का शव उन्नाव जिले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री के बेटे के आश्रम के पास एक खाली भूखंड में स्थित एक सेप्टिक टैंक में दफन पाया गया था। क्षत-विक्षत अवस्था में मिला था। मामला सामने आने के तुरंत बाद बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा. इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए, मायावती ने ट्वीट किया: “उन्नाव जिले में एक सपा नेता के खेत में एक दलित लड़की का दफन शव बरामद होना बहुत दुखद और गंभीर मामला है। परिजन लड़की के अपहरण और हत्या में सपा नेता पर शक कर रहे थे। राज्य सरकार दोषियों के खिलाफ फौरन सख्त कार्रवाई करे और पीड़ित परिवार को न्याय दिलाए।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गुरुवार को जिस दलित लड़की का शव मिला था, उसकी गर्दन टूट गई थी।