Asaduddin Owaisi Attack: असदुद्दीन ओवैसी , AIMIM प्रमुख के काफिले पर कल उस समय गोली चलाई गई जब वह उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार के बाद दिल्ली लौट रहे थे। ओवैसी ने यूपी सरकार और चुनाव आयोग से मांग है कि इस पूरे मामले की जाचं करें’

इस मामले में पुलिस ने दो लड़कों को गिरफ्तार किया है जो वहां से गोली चला कर भागे उसमें से एक है सचिन और दूसरा शुभम पुलिस की माने तो उन्होंने बयान दिया है कि वह ओवैसी के एक बयान से बहुत खफा थे जो उन्होंने एक मजहब पर दिया था ।

ओवैसी ने पिछली रात ट्वीट कर कर दिखाया कि कैसे उनकी सफेद गाड़ी पर बुलेट से अटैक हुआ है ओवैसी ने यह भी बताया कि वह ठीक है और अपनी कार छोड़कर दूसरी कार में रवाना हो चुके हैं ।ओवैसी को तत्काल प्रभाव से सीआरपीएफ की जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है।

ओवैसी ने कई बार उत्तर प्रदेश में मुसलमानों के खिलाफ हो रही हो रहे भेदभाव की बात की है उन्होंने यह तक कह दिया है कि कुछ राजनीतिक पार्टियां अपने फायदे के लिए मुसलमानों को अपनी तरफ करती हैं लेकिन जब उनको  जरूरत पड़ती है तब उनके साथ खड़ी भी नहीं रहती।

ओवैसी ने अपने भाषण में कहा,”अल्लाह  ने मेरी मौत का वक़्त मुक़र्रर रखा है, मैं तुम्हारे मारने से हरगिज़ नहीं मरूंगा, जब अल्लाह बचाना चाहता है तो कोई कुछ नहीं कर सकता।“

ओवैसी चुनाव प्रचार में पूरे रमे हुए हैं हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गर्मी वाले बयान पर ओवैसी ने पलटवार किया ओवैसी ने कहा, “मुख्यमंत्री योगी की विशेषता यह है कि वह जिन्ना पर बात करते हैं और मई-जून में गर्मी पैदा करते हैं अगर बाबा मई और जून में गर्मी पैदा कर रहे थे तो 2021 जून-जुलाई में ऑक्सीजन क्यों नहीं दे पाए गंगा मेला से बह रही थी लोगों को दवाई नहीं मिली ।”

आपको बता दें कि ओवैसी की पार्टी भी कई सीटों पर उम्मीदवार उतार रही है कई जगहों पर ओवैसी ने अपने उम्मीदवारों के द्वारा विरोधी दलों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है।