International Flights Resumes भारत ने रविवार को लगभग दो साल बाद अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन फिर से शुरू कर दिया है। 23 मार्च, 2020 को केंद्र सरकार ने देश में Covid-19  महामारी के प्रवेश के कारण उड़ान संचालन को निलंबित कर दिया था। और जुलाई 2020 में, विभिन्न देशों के साथ द्विपक्षीय एयर बबल व्यवस्था के तहत विदेशी उड़ानें चालू हो गईं। लेकिन एक भयंकर महामारी के बीच नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन पर प्रतिबंध लगभग दो वर्षों तक बढ़ा। अब, 27 मार्च को, नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के संचालन ने आखिरकार अपना परिचालन फिर से शुरू कर दिया है।

DGCA के अनुसार, 40 देशों की 60 एयरलाइनों को ग्रीष्मकाल के दौरान भारत से आने-जाने वाली 1,783 एयरलाइनों को संचालित करने की अनुमति दी गई है। ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम 27 मार्च से 29 अक्टूबर तक प्रभावी रहेगा।
 Directorate General of Civil Aviation (DGCA) ने ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम के लिए छह भारतीय एयरलाइनों के लिए कुल 1,466 अंतरराष्ट्रीय प्रस्थान को मंजूरी दी है। एयरलाइंस 27 देशों में 43 गंतव्यों के लिए काम करेगी। इसके अलावा, अमीरात, वर्जिन अटलांटिक और लॉट पोलिश सहित विभिन्न विदेशी एयरलाइनों ने भी भारत से और भारत से अपनी सेवाओं के बारे में योजनाओं की घोषणा की है।

राष्ट्रीय राजधानी में इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (IGIA), जो देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा भी है, को उम्मीद है कि अप्रैल के पहले सप्ताह में अंतरराष्ट्रीय उड़ान प्रस्थान में महत्वपूर्ण उछाल आएगा। IGIA ने पूर्व-कोविड समय के दौरान प्रति दिन लगभग 1.8 लाख यात्रियों को संभाला।

विदेशी एयरलाइनों में, Emirates (जिसका भारत में सबसे बड़ा परिचालन है) एक सप्ताह में 170 उड़ानें संचालित करेगा। Air Arabia 140 उड़ानें संचालित करेगी। US-based carrier, United Airlines and American Airlines हर हफ्ते  28 उड़ानें और 7 उड़ानें संचालित करेंगे। दूसरी ओर, European airlines, जैसे कि British Airways, 49 प्रस्थान संचालित करेगी, German carrier Lufthansa 32 उड़ानें संचालित करेगी, और Air France प्रति सप्ताह 20 उड़ानें संचालित करेगी।

श्रीलंका एयरलाइंस क्रमशः 128 उड़ानें, ओमान एयर 115 उड़ानें, सिंगापुर एयरलाइंस 65 उड़ानें और मलेशिया एयरलाइंस 30 उड़ानें प्रति सप्ताह उड़ान भरेगी। थाईलैंड की थाई एयरवेज और थाई स्माइल हर हफ्ते क्रमश: 36 और 21 उड़ानें संचालित करेंगी।
सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन के लिए कोविड दिशानिर्देशों को भी संशोधित किया है, जिसमें चिकित्सा आपात स्थितियों के लिए विदेशी उड़ानों में तीन सीटों को खाली रखने की आवश्यकता को हटाना भी शामिल है। सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ान संचालन के लिए कोविड दिशानिर्देशों को भी संशोधित किया है, जिसमें चिकित्सा आपात स्थितियों के लिए विदेशी उड़ानों में तीन सीटों को खाली रखने की आवश्यकता को हटाना भी शामिल है। इसके अलावा, एक पूर्ण PPE KIT रखने के लिए चालक दल की आवश्यकता को समाप्त कर दिया गया है।