नई दिल्ली। 2020 के अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर करुणा ने मंच संभाल लिया है| इस साल, यह विश्व संगीत दिवस भी है। ‘आयुष मंत्रालय’ एवं ‘संयुक्त राष्ट्र जन सूचना विभाग’ के साथ मिलकर ‘हार्टफुलनेस संस्थान’ ‘वैश्विक योगाथान’ आयोजित कर रहे हैं। एक साथ ध्यान करने का अवसर, योग पर चर्चा, संगीत और ‘करुणा को फैलायें’ का आव्हान – ये सब इस “वैश्विक योगाथान” में शामिल हैं। इस आयोजन को उत्तरी अमेरिका और भारत की 500 से भी अधिक सामाजिक, सांस्कृतिक और प्रोफेशनल संस्थाओं से अपार भावनात्मक सहयोग मिल रहा है।
जब हम इस बात का हल खोजने में लगे हैं कि वर्तमान समय में कोविड महामारी द्वारा दी जा रही व्यक्तिगत, सामाजिक और आर्थिक चुनौतियों का सामना कैसे करें, तो करुणापूर्ण तरीके से जीवन जीना ही सर्वोत्कृष्ट उपाय नज़र आता है। भविष्य के प्रति भय एवं असुरक्षा से आक्रान्त हमारे ह्रदय को मात्र करुणा ही शांत कर सकती है। यह आयोजन करुणा के महत्व को समझाते हुए लोगों को प्रेरित भी करेगा कि करुणामय जीवन कैसे जिया जाए। विश्व के सभी महान धर्मग्रंथों में करुणा की चमत्कारी ताकत को अत्यंत विस्तार से लिपिबद्ध किया गया है और समय आ गया है कि हम अपने आप को भी इस बात का स्मरण करा दें।
इस आयोजन में अपने अपने क्षेत्र की ये महान विभूतियाँ में उपस्थित रहेंगी:- हार्टफुलनेस के प्रमुख पथप्रदर्शक कमलेश पटेल (दाजी), योग-ऋषि बाबा रामदेव, केन्द्रीय आयुष राज्य-मंत्री श्रीपद नायक, भारतीय प्रधानमन्त्री के शेरपा श्री सुरेश प्रभु, UNIC के भारत के प्रमुख राजीव चंद्रन, संगीतज्ञ विभूतियाँ – पद्म विभूषण पंडित जसराज, पद्म विभूषण पंडित हरिप्रसाद चौरसिया, पद्मश्री शंकर महादेवन, वेलनेस-एक्सपर्ट शाइना एन सी तथा मिकी मेहता, स्पोर्ट्स-स्टार पद्म भूषण – पी वी सिन्धु, वी वी एस लक्ष्मण, नवदीप सैनी, अभिनेता ओमी वैद्य, सुधांशु पाण्डेय एवं अन्य।
आयोजन की थीम (विषय-वस्तु) पर दाजी के विचार हैं, “करुणा एक से दूसरे में प्रवाहित होती है और हमें सशक्त बनाते हुए किसी भी वाइरस से अधिक तेजी से फैल सकती है। करुणा के सन्देश को फैलाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस बहुत उचित प्लेटफार्म है। इस उद्देश्य के हित में अपनी आवाज़ उठाने के लिए जीवन के विभिन्न पहलुओं से जुड़ी इन विभूतियों ने सहर्ष सहमति दी है। यह “वैश्विक योगाथन” हमारी चेतना को और भी अधिक करुणामय कार्यों के प्रति जागरूक करेगा जिससे हमारा जीवन अधिक शांत एवं अर्थपूर्ण हो सकेगा।”
यह आयोजन पूर्व अमेरिका के समयानुसार 20 जून 2020 को शाम 7:00 बजे अर्थात भारत के समयानुसार 21 जून को सुबह 7:00 बजे प्रारम्भ होगा|
“वैश्विक योगाथन” कार्यक्रम के सह-आयोजक श्री श्रीपद नायक कहते हैं, ”यह अंतर्राष्ट्रीय योगाथन योगाभ्यास को विश्व के समक्ष लाने के मार्ग में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा। हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रेरित इस स्वप्न को संयुक्त राष्ट्र संघ ने अब एक वैश्विक अभियान बना दिया है। योग की इस अति प्राचीन परंपरा के रूप में यह योगदान विश्व की प्रमुख सांस्कृतिक धरोहरों में से एक है, जिस पर हर भारतीय को, चाहे वे जहाँ भी हों, गर्व करना चाहिए। इस उल्लेखनीय अभ्यास को सबसे साझा करना और बढ़ावा देना हमारा मुख्य दायित्व है ताकि भावी पीढ़ियाँ भी मानवता को प्राप्त इस वरदान का आनंद ले सकें।
यह निम्न सोशल मीडिया लिंक्स पर उपलब्ध होगा:- http://heartfulness.org/IDY
http://youtube.com/heartfulness/ https://www.facebook.com/practiceheartfulness

आयोजन में भागीदार हैं:-
500 से भी अधिक संस्थाएं, जिनका हमें सहयोग मिल रहा है, इसमें कई कम्पनियाँ, सामाजिक बदलाव लाने में लगी संस्थाएं, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय शासकीय एवं निजी प्रतिष्ठान तथा अन्य लोग शामिल हैं| कुछ प्रमुख नाम हैं:- HDFC, UCO Bank, SBI, NTPC, BHEL, Port Association of India, Reliance Jio, GICPL, Delhi Police, SEBI, GACL, Indigo Airlines, Sewa International, AIM for Sewa, AAPI, TANA, TAMA, ATA. करुणा के सन्देश को फैलाने में हमारे साथ शामिल हों.