सर्दियों में अमरुद खाना है रामबाण

वैसे तो अमरूद सर्द के मौसम में सीजन से कम मिलता है। लेकिन सर्दी के मौसम में इसे खाना बहुत ही लाभदायक है। जबकि कुछ लोगों का मानना है कि इस मौसम में इसका सेवन करना बीमारियों को न्‍यौता देना है। जबिक ऐसा नहीं है। अगर आप एलर्जी, गठियां दर्द, मुंह के छाले, अपच की समस्या, दांत दर्द, मुहांसों की समस्या, डायरिया या डेंगू आदि रोगों से परेशान रहते हैं तो इसको खाने से दूर होंगे। से इलाज के गुण अमरुद के पत्‍तियों में संग्रहित हैं।
विशेषज्ञों के अनुसार अमरूद की तासीर शीतल होती है, जो पेट में होने वाले विकारों को पल में दूर करता हैं। इतना ही नहीं अगर इसे आप भोजन करने के बाद भी खाते हैं तो ये कोई नुकशान नहीं करेंगा। बल्‍कि कब्ज, अफारा व मंदाग्रि की शिकायत नहीं होगी। वहीं सर्दी-जुकाम में अमरूद के बीजों का चूर्ण पानी के साथ लेने से आराम मिलता है। अमरूद में विटामिन सी अधिक होने से भी अनेक बीमारियों में फायदा होता है।
वहीं इनके साथ ही कई ऐसी अन्‍य बीमारियों को भी दूर करता हैं जो धीरे धीरे विकाराल रूप ले लेती हैं। अगर आपके आधे सिर में दर्द हो रहे हैं तो इसे जरुर प्रयोग में लाए। सुबह कच्चे हरे ताज़े अमरूद को सूर्य के उदय होने से पहले पत्थर पर घिसकर लेप तैयार कर लें और इस लेप को माथे पर लगाएं। साथ ही यह अमरूद कृमिनाशक भी है और इसके कई प्रयोग जैसे मुरब्बा के रूप में कब्ज में खाना, अफारा रोग दूर करने में आदी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.