एक पल में भाजपा की, तो दूसरे पल में लेफ्ट की बन रही थी सरकार

अगरतला : पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में शनिवार की सुबह 8 बजे मतगणना शुरू हुई. मतगणना अब भी जारी है. काउंटिंग के पहले रुझान के साथ ही त्रिपुरा में सरकार बनने और गिरने का खेल शुरू हो गया. राजनीतिक दलों के बीच नहीं. एक हिंदी न्यूज चैनल पर. सबसे पहले तीन राज्यों के चुनाव परिणामों की सबसे सटीक जानकारी देने का दावा करने वाले इस चैनल ने एक पल में भाजपा की सरकार बनवा दी, तो अगले ही पल भाजपा की सरकार गिराकर लेफ्ट की सरकार बनवा दी. थोड़ी ही देर में लेफ्ट की सरकार गिरा दी और भाजपा की सरकार बनवा दी.
हालांकि, विशेषज्ञों की आपत्ति के बाद न्यूज चैनल के एंकर ने इसे रुझानों में सरकार बनती और गिरती दिखाई देने की बात कही. त्रिपुरा में मतगणना शुरू होने के बाद से ही भाजपा और लेफ्ट के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिली. करीब 10 बजे भाजपा ने लेफ्ट को पछाड़कर उससे ज्यादा सीटों पर बढ़त बना ली थी, लेकिन 10 बजे के बाद बढ़त का आंकड़ा बदल गया.
चैनल ने आंकड़ों के आधार पर लगातार कभी लेफ्ट की, तो कभी भाजपा की सरकार बनने और गिरने की रिपोर्टिंग की. 10:03 बजे माणिक सरकार के नेतृत्व वाली वाम फ्रंट सरकार ने भाजपा को पछाड़ दिया, तो 10:07 बजे भाजपा ने लेफ्ट पर बढ़त बना ली. एक ही मिनट बाद लेफ्ट ने भाजपा पर 6 सीटों की बढ़त बना ली. अगले ही मिनट लेफ्ट ने 33 सीटों पर बढ़त बना ली, जबकि भाजपा की बढ़त 29 सीटों से घटकर 26 रह गयी.
विशेषज्ञों ने दोनों पार्टियों के प्रदर्शन को बेहतरीन माना है. उनका कहना है कि भाजपा को इस बार 46 फीसदी से अधिक वोट मिले हैं. यह भाजपा के लिए बड़ी उपलब्धि है, तो माणिक सरकार के 20 साल के शासन के बाद भी इतनी सीटें मिलना लेफ्ट के लिए बड़ी उपलब्धि है. सुबह 10:15 बजे टाइम्स ऑफ इंडिया ने चुनाव आयोग के हवाले से खबर दी कि भाजपा ने लेफ्ट पर बढ़त बना ली है और बहुमत के करीब पहुंच गयी है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.