प्रदूषण काम करने में कारगर हो गैस जेनसेट: बाबुल सुप्रियो

नई दिल्ली। केंद्रीय भारी उद्योग राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण की दिशा में महिन्द्रा कंपनी जो कार्य कर रही है, वह सराहनीय है। हम सभी को प्रदूषण कम करने के लिए काम करना होगा। अपनी जरूरतो ंको पर्यावरण के हिसाब से देखना होगा। इस दिशा में महिंद्रा पावरोल का नया गैस जेनसेट भविष्य के लिए मील का पत्थर साबित होगा।
केंद्रीय राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो महिन्द्र पावरोल के पहला गैस जेनसेट के लाॅचिंग के दौरान बोल रहे थे। बता दें कि महिन्द्रा ग्रुप के बिजनेस युनिट महिन्द्रा पावरोल ने गैस पावर्ड जेनसेट सेगमेन्ट में प्रवेश का ऐलान किया है। भारी उद्योग एवं सर्वजनिक उद्यमों के मंत्री बाबुल सुप्रियो ने दिल्ली में भारत के पहले सीएनजी/एनजी गैस जेनसेट (पावर्ड बाय महिन्द्रा) का लाॅन्च किया। कंपनी ने रु 9.5 लाख ़ कर की कीमत पर 6 सिलिण्डर 125 केवीए गैस जेन्सेट को दिल्ली के बाज़ार में उतारा है। यह भारत का पहला सीपीसीबी- 2 अनुमोदित गैस जेनसेट है। चकन स्थित कंपनी के प्लान्ट में निर्मित शून्य-पार्टीकुलेट मैटर से युक्त जेनसेट न के बराबर प्रदूषण करेगा।
लाॅन्च के मौके पर हेमंत सिक्का, प्रेज़ीडेन्ट-सीपीओ, पावरोल एण्ड स्पेयर बिज़नेस, महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा लिमिटेड ने कहा कि आज का यह लाॅन्च हरित भविष्य की ओर महिन्द्रा की प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है और साथ ही बताता है कि कंपनी समाज में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए प्रतिबद्ध है। मेरा मानना है कि आने वाले समय में इन गैस जेनसेट्स की मांग बढ़ेगी, जो नागरिकों और कारोबारों दोनों के लिए फायदेमंद होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.