एकेबी 48 का इंडियन चैप्टर डीईएल 48 और एमयूबी 48 लॉन्च किया

नई दिल्ली। भारतीय निगम, वाईकेबीके 48 एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड की स्थापना भारतीय निगम वाईकेबीके एंटरप्राइज (प्राइवेट) लिमिटेड और जापान के निगम एकेएस कंपनी लिमिटेड के बीच तालमेल बनाए रखने के लिए की गई है। वाईकेबीके एंटरप्राइज (प्राइवेट) लिमिटेड भारतीय उपमहाद्वीप में 3×3 प्रफेशनल बास्केटबॉल का मैनेजमेंट करती है। वहीं जापान का निगम एकेएस कंपनी लिमिटेड केवल जापान में ही नहीं, बल्कि पूरे एशिया में इंडियन आइडल ग्रुप्स के प्रबंधन का काम देखती है।

इस प्रोजेक्ट में मुख्य रूप से महिलाओं की सामाजिक प्रगति और उनकी खुशी की फिर से परिभाषा देने पर फोकस किया गया है। यह दिखाने के लिए कि सभी महिलाओं के पास ऊंचा से ऊंचा मुकाम हासिल करने और चमकने का अधिकार है, डीईएल48 और एमयूबी48 उनके पथप्रदर्शक बनना चाहते हैं।

वाईकेबीके48 एंटरटेनमेंट ने नई दिल्ली और मुंबई की लड़कियों का आइडल ग्रुप, डीईएल48 और एमयूबी48 लॉन्च किया है। यह ग्रुप उन युवा लड़कियों की मदद करता है, जो अपने सपनों को पूरा करना चाहती हैं। डीईएल48 ग्रुप देश की राजधानी नई दिल्ली से संचालित होगा और देश के उत्तरी क्षेत्र में काम करेगा, जबकि एमयूबी48 देश की एंटरटेनमेंट कैपिटल मुंबई और उसके आसपास के क्षेत्रों पर अपना फोकस रखेगा। यह दोनों ग्रुप देश भर की उन युवा लड़कियों के लिए प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य करेंगे, जो एक कलाकार बनने के अपने सपने को पूरा करना चाहती है और टीवी, थियेटर, फिल्म और अन्य विधाओं में अपना नाम रोशन करना चाहती हैं। हम फाइनल ग्रुप की 13 से 20 वर्ष की आयुवर्ग की लड़कियों की आई हजारों एंट्रीज में 50 लड़कियों का चयन करने के लिए देश भर में कई चरणों में ऑडिशन आयोजित कर रहे हैं।

वाईकेबीके 48 एंटरटेनमेंट के सीईओ रोहित बख्शी ने कहा, “भारत अवसरों की धरती है। डीईएल48 और एमयूबी48 की लॉन्चिंग हमारे लिए और हमारे उभरते हुए कलाकारों के लिए काफी उत्साहजनक क्षण है। किसी राष्ट्र को समृद्ध होने और उसकी खुशहाली के लिए महिलाओं का सशक्त होना बहुत जरूरी है। एक महिला ही घर का निर्माण करती है और देश के विकास का रास्ता महिलाओं को सशक्त बनाकर ही निकाला जा सकता है।“

इस प्रोजेक्ट के फॉर्मेट को दुनिया भर में काफी जबर्दस्त सफलता मिली है। खासतौर पर यह जापान में बेहद सफल है। एकेबी48 ग्रुप सबसे लोकप्रिय लड़कियों का समूह है। इस समूह की वजह से सैकड़ों लड़कियों को उनके मनपसंद काम, जैसे अभिनय करना, गाना या परफॉर्मेंस देना, आदि की इजाजत मिली है। यह काफी शानदार ढंग से काम करता है क्योंकि अभिनेताओं के साथ लोगों का जुड़ाव काफी होता है और वह दर्शकों के साथ काफी बेहतरीन तरीके से जुड़ सकते हैं।

वाईकेबीके एंटरप्राइज के चेयरमैन योशिया कातोह ने कहा, “साहस, बलिदान, जृढ़ता, प्रतिबद्धता, दिल, प्रतिभा और तमाम कार्यों को करने की हिम्मत। इन सबसे मिलकर लड़कियों का निर्माण होता है। गर्ल पावर तभी महसूस की जा सकती है, जब आपको अपने आप से प्यार है और आप में भीतर से आत्मविश्वास और शक्ति जागृत हो। भारत की विशाल आबादी को देखते हुए हमें यहां से कई ऐसी प्रतिभाओं के सामने आने की उम्मीद है, जिनका दुनिया में कोई तोड़ नहीं होगा। हम गर्व महसूस कर रहे हैं कि डीईएल48 और एमयूबी48 ने लड़कियों को वह पंख दिए हैं, जिसकी उन्हें उड़ने के लिए जरूरत है और इसी से वह ग्लोबल एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में अपना एक खास मुकाम बना सकती है। यह न केवल नौजवानों के वलिए अच्छा अवसर है, बल्कि इससे भारत में एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में भी क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा।“

एकेएस कंपनी लिमिटेड के डायरेक्टर नारियाकी तेराडा ने कहा, “लड़कियां पुरुषों से ज्यादा काम बेहतर ढंग से करने में सक्षम होती है। कई मौकों पर उनकी कल्पना भी पुरुषों से अच्छी देखी गई है। मेरा मानना है कि लड़कियों और महिलाओं को पलने-बढ़ने के दौर में एक आदर्श चरित्र को सामने रखना चाहिए। हम डीईएल48 और एमयूबी48 के आयोजक होने के नाते उस आदर्श चरित्र की रचना करना चाहते हैं। भारत के विशाल एंटरटेनमेंट मार्केट और यहां की विशालतम आबादी को देखते हुए हमें भारत में कई नौजवान प्रतिभाओं के उभरने की काफी क्षमता होने की उम्मीद है। हम ऐसी संस्था से साझीदारी में कारोबार कर काफी खुश है, जिसे भारत में बास्केटबॉल लीग के प्रबंधन का अनुभव प्राप्त है और जो एकेबी48 के सिस्टम को अच्छी तरह समझती है। हम एकेबी48 ग्रुप सिस्टम से स्टार को पैदा करने की ओर देख रहे हैं।“

टीवी सेलिब्रेटी और अभिनेता रणविजय सिंह ने कहा, “मैं फिल्म और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में कुछ समय पहले आया हूं। अपने इस सफर के दौरान मैं ऐसे कई लोगों से मिला, जिसमें प्रतिभा कूट-कूट कर भरी थी और जो यहां अपने सपनों को पूरा करना चाहते थे। जिस समय मैं इस कॉन्सेप्ट को सुन रहा था, उसी समय मैंने यह फैसला किया कि यह कुछ ऐसी चीज है, जिससे हमारी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में क्रांतिकारी बदलाव आएगा। रोहित, योशिका कातो और नारियाकी तेराडा के साथ काम करना और डीईएल 48 और एमयूबी 48 को भारत लाना मेरे लिए काफी महत्वपूर्ण है। मैं काफी उत्साहित हूं कि मुझे विशेष रूप से चुनी गई 48 लड़कियों को एक्टिंग के गुर सिखाने और संरक्षण देने का मौका मिलेगा। लड़कियों को मजबूत बहनाना हमेशा से मेरा लक्ष्य रहा है। हम निश्चित रूप से देश भर की कई लड़कियों को मजबूत बनाकर उन्हें अपने सपनों को पूरी करने में मदद दे सकते है। मुझे उम्मीद है कि भविष्य में ऐसी ही कई प्रतिभावान लड़कियां सामने आएंगी। यह प्लेटफॉर्म केवल लड़कियों को मजबूत ही नहीं बनाता, बल्कि उन्हें अपनी सीमाओं के तोड़कर अपनी प्रतिभा के बेबाक और खुलकर प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित करता है।“

मशहूर टीवी सेलिब्रेटी हिना खान ने कहा, “मैं इस पहल के साथ जुड़कर काफी खुश हूं। हमारे देश में विशेषतौर पर लड़कियों में प्रतिभाओं का कोई अकाल नहीं है। अगर उन्हें मौका दिया जाए तो विश्व की बड़ी से बड़ी प्रतिभाओं को अपनी चमक से फीका कर सकती हैं।“

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.