समस्याओं का ज्योतिष उपचार-कहीं भी कभी भी


श्री अतुल सचदेवा,

विकास और प्रगति जहाँ एक ओर जीवन को सहज और सुखमय बनाते है, वही ये ईष्र्या, द्वेष और वैमनस्य को बढ़ाते है। परिणाम स्वरूप, मनुष्य का आर्थिक, मानसिक तथा बौद्विक अद्योपतन आरंभ हो जाता है। चिंता और तनाव से ग्रसित यह जीव जीवन के प्रति रूचि व अनुराग को खो बैठता है। कारण स्पष्ट है चिंता है बडी चिंता से भी, नर को निर्जीव बनाती है।
मुर्दे को चिंता जलाती है, चिंता जीते को खाती है।।
एक व्यक्ति का जीवन न केवल स्वयं के लिए सुख, वैभव और भोग-विलास बटोरने के लिए होता है, अपितु उसका परिवार, समान, देश व विश्व के प्रति दायित्व होता है। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को न केवल अपने लिए, बल्कि औरों के लिए हर चुनौती का सामना करने हेतु हमेशा तत्पर रहना चाहिए।
जीवन चक्र भूतकाल, वर्तमान तथा भविष्य काल में समाहित है। भूतकाल को बदलना संभव नही होता। किंतु, मनुष्य भविष्य काल की समयानुसार जानकारी से अपने वर्तमान और भविष्य को बेहतर बना सकता है। इस प्रकार व्यक्ति अपने जीवन से ही नही, अपितु अपनो ंसे अन्यो से और अन्ततया सबसे प्रेम करना प्रारंभ कर देता है। पफलस्वरूप उसे आनन्द ही नहीं, बल्कि परमानन्द की अनुभूति होने लगती है।
जीवन की प्रत्येक समस्या का समाधन व्यक्ति स्वयं नही कर सकता। जीवन विश्लेषण के मुख्य तत्व-जन्म तिथि, समय व स्थान के आधर पर तैयार कुंडली देखकर कुशाग्र और पारंगत ज्योतिषी की उचित परामर्श मनुष्य के जीवन में आमूल्य परिवर्तन कर आशा की किरण बन जाते है। इस प्रकार, ज्योतिष शास्त्रा द्वारा प्राप्त भविष्य की सामयिक जानकारी न केवल भाग्य से आए सुनहरे अवसरों का सृजन कर जीवन की अनेक जटिल समस्याओं का हल ढूृढने में मदद देती है। आवश्यकता है बस ऐसे ज्योतिषी की तलाश की जो न केवल विशेषज्ञ हो, बिना भावनाओं से खिलवाड़ किए जीवन के रहस्यों को गोपनीयता के साथ जातक को उजागर करे ताकि उसके जीवन में सुख, शांति और समृद्वि का संचार हो।
डी. टी. पी. मैजिक.काॅम एक आसाधरण बेवसाइट ;संस्थाद्ध है। इसका उदेश्य प्राचीन ज्योतिष गणना के प्रयोग से जन मानस के जीवन में सकारात्मक सोच व परिवर्तन लाना है। यह संस्था सदियों से भारत में चल रहे प्राचीन सिद्वांतों और गणनाओ के आधर पर मानव जीवन के भूत, वर्तमान और भविष्य काल का विश्लेषण करती है। इस तरह, ग्रहचाल, सितारों की स्थिति और जन्म कुंडली का अध्ययन कर अहम घटनाओं की जानकारी प्राप्त कर जीवन को सुखद एवं मध्ुरिम बनाया जा सकता है। वेद ज्योंतिष शास्त्रा की क्षतिपूर्ति कर प्राचीन शास्त्रा को पुनः प्रचलित करने के लिए कटिबद्व है। डी टी पी मैजिक संस्था के इस दिशा में उठाए कदम इस अदभुत शास्त्रा की गरिमा बनाकर जनसाधरण का ज्योतिष शास्त्रा में विश्वास को पुनर्जीवित करेगे।
डी टी पी मैजिक संस्था। जीवन की हर समस्या का समाधन देने में सक्षम है-चाहे वह समस्या वैवाहिक हो करियर या संतान सम्बध्ति हो या पिफर आर्थिक या जीवन के अन्य किसी पहलु से जुडी हो। विशेषकर इस संस्था में नक्षत्रों पर आधरित ‘गुण मिलान’ की वैदिक ज्योतिष पद्वति ‘कुंडली मिलाप से जुडी भ्रांति को निर्मूल कर दिया है। अध्ंिकाश ज्योतिषचार्य ‘मांगलिक एंव अष्टकूट’ गुण मिलान देख कर ही कुंडली मिलान का निर्णय लेते है। लेकिन यहाँ दाम्पत्य जीवन सुख, आयु निर्णय संतान सुख तथा आर्थिक स्थिति का विचार परम आवश्यक है भगवान राम-सीता की कुंडली के छजीस गुण मिलने पर भी उसके वैवाहिक जीवन में आई अनेक कठिनाइयों सर्व विदित है।
डी टी पी मैजिक संस्था की विलक्षण सेवाएंः
1. कही भी, किसी भी समय इस नम्बर पर काॅल 8810002000 करे।
2. जातक की पहचान की गोपनीयतां
3. न्यूनतक खर्च पर अनुभवी प्रशिक्षित ज्यातिषाचार्य समूह की उपलब्ध्ता
4. समाधन को लंबा न खीचा जाना।


(लेखक सामाजिक सरोकार और समसामयिक विषयांें पर लिखते हैं।)

2 Comments on “समस्याओं का ज्योतिष उपचार-कहीं भी कभी भी”

Leave a Reply

Your email address will not be published.