राहुल देव शर्मा

नई दिल्ली । इंडियन नेशनल स्टूडेंट्स आर्गेनाईजेशन (इनसो) के राष्ट्रीय अधयक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने हरियाणा में छात्र संघ चुनाव बहाल होने पर सभी संगठनों और उन सब का आभार जताया है जिन्होंने इस में अपना योगदान दिया है। नई दिल्ली में आज एक प्रेस वार्ता में श्री चौटाला ने कहा कि आज 22 साल बाद हरीयाणा में बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर और जननायक चौधरी देवीलाल का सपना साकार हुआ है जिन्होंने 18 साल से ज्यादा बड़े यूवाओ को वोट का अधिकार देने की वकालत की थी। उन्होंने कहा कि छात्र संघ चुनाव शरू होने से कॉलेज और विश्वविधालो में जहां आम छात्रों को चुनाव प्रक्रिया में भाग लेने का मौका मिलेगा वही चुने हुए पधादिकारी अपने कॉलेज में आने वाली परेशानियो को आसानी से सुलझाया जा सकता है ।
श्री चौटाला ने कहा में बहुत आहात हुआ जब 20 या 30 साल तक राजनीती में रह रहे कुछ नेता लगातार ये आरोप मुझ पर लगा रहे थे की दिग्विजय तो छात्र संघ चुनाव के बहाने अपनी राजनीति चमका रहा है। आज उन बड़े बड़े नेताओं को मेरे जैसे एक छोटे से कार्यकर्ता से इतना डर कयू लग रहा है इसी लिए उनहोने चौधरी देवीलाल जी के त्याग से प्रेरणा लेकर ये घोषणा की के आप चुनाव की घोषणा करो इनसो एक साल तक कोई चुनाव नहीं लड़ेगी। जब हरीयाणा अलग बनाने की बात आई थी तब भी कुछ नेताओं ने चौधरी देवीलाल पर मुख्यमंत्री बनने की चाह रखने की बात कही थी तब चौधरी देवीलाल जी ने घोषणा की थी वो हरियाणा में पहला चुनाव नहीं लड़ेंगे और उन्होंने अपना वायदा निभाया भी था इसीलिये इनसो भी अब पहला चुनाव नहीं लड़ेगी।nu
एक सवाल के जवाब में दिग्विजय ने कहा कि हमारी सभी 8 मांगों को सरकार ने मान लिया है तथा दिल्ली और पंजाब के समान लिंगधो कमेटी की सिफ़ारिश पर ही चुनाव होंगे।