नयी दिल्ली : पेट्रोल, डीजल की आसमान छूती कीमतों से लोग बेहद परेशान हैं. विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत बेहद कम होने के बावजूद पेट्रोल, डीजल की कीमतों में कमी नहीं करके सरकार लोगों का हक मार रही है. लेकिन, अब खबर आ रही है कि देश में जल्द ही पेट्रोल-डीजल के दाम कम होंगे. वित्त मंत्री ने इसकी योजना बना ली है.
सूत्र बताते हैं कि वित्त मंत्री अरुण जेटली का मानना है कि पेट्रोल और डीजल पर यदि वस्तु और सेवा कर (GST) लागू कर दिया जाये, तो समीकरण बदल सकते हैं. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि सरकार GST के दायरे में पेट्रोलियम पदार्थों को भी लाना चाहती है. वह जीएसटी परिषद में इस पर सर्वसम्मति बनने का इंतजार कर रहे हैं.
बताया जाता है कि अगर पेट्रोल पर 12 फीसदी GST लागू हो जाये, तो वैट और एक्साइज जैसे टैक्स लोगों को नहीं देने पड़ेंगे. इसके बाद डीलर कमीशन लगने के बाद भी दिल्ली में पेट्रोल 38 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से बिकने लगेगी. जीएसटी 18 फीसदी भी रहे, तो पेट्रोल की कीमत 40 रुपये से ज्यादा नहीं होगी. कहा जा रहा है कि पेट्रोल, डीजल पर अगर जीएसटी का उच्चतम स्लैब 28 फीसदी भी लागू होता है, तो भी पेट्रोल की कीमत 44 रुपये से ज्यादा नहीं होगी.
दिल्ली में डीलर इंडियन ऑयल (Indian Oil) से 30.45 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से पेट्रोल खरीदते हैं. इस पर 21.48 रुपये एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल पर वसूला जाता है. फिर 3.57 रुपये प्रति लीटर डीलर कमीशन लेता है. अब 27 फीसदी की दर से इस पर 14.98 रुपये का वैट लगता है. इस तरह एक लीटर पेट्रोल की कीमत 70.48 रुपये हो जाती है. इसी तरह सभी राज्यों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ जाती हैं और ग्राहकों की जेब कटती है.

साभार: प्रभात खबर