अखिलेश को छोड़ूंगा नहीं : अमर सिंह

नई दिल्ली। राज्य सभा सांसद अमर सिंह ने सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को चिन्हित राजनीतिक दुश्मन करार दिया है। न्यूज 18 इंडिया से बात करते हुए सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव राजनीतिक तौर पर उनके नंबर वन दुश्मन हैं। उन्होंने कहा, “अखिलेश ने मुझे घर से बाहर निकाल दिया, मेरी तस्वीर पर पेशाब कर दिया, सार्वजनिक रूप से गालियां दी, बाहरी कह दिया तो अब कोई मुरौव्वत का सवाल ही नहीं उठता है।”
जब उनसे पूछा गया कि क्या उत्तर प्रदेश की राजनीति में अखिलेश यादव को फिर से मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद देंगे तो अमर सिंह ने कहा, ‘नहीं, कभी नहीं।” उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा यशस्वी भव: कह सकता हूं, विजयी भव: नहीं कहूंगा क्योंकि उन्हें मैंने अपना चिन्हित राजनीतिक दुश्मन करार दिया है। सिंह ने कहा कि फिलहाल तो वो हमारी बहू के साथ दाम्पत्य जीवन का लाभ उठाएं। अमर सिंह ने कहा कि राजनीति के मैदान में अखिलेश ने मुझे पटका, मौका मिला तो मैं भी उन्हें पटकूंगा। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि सपा से उनका अब दूर-दूर तक संबंध नहीं है। मुलायम सिंह यादव से बी उनकी बातचीत अब नहीं होती है। अमर सिंह ने बताया कि जिस दिन मुलायम सिंह ने ये कहा कि आपकी वजह से हमारे पुत्र अखिलेश, आजम खान और रामगोपाल नाराज रहते हैं, आप मुझसे मत मिला करो, उस दिन से आज तक न तो उनका फोन आया न तो मैंने मुलायम सिंह को फोन किया। हालांकि, सिंह ने कहा कि मुलायम सिंह उनके बड़े हैं और आदरणीय हैं।
अमर सिंह ने यह भी कहा कि जिस मुलायम सिंह यादव ने सबको निपटाया खुद पुत्र द्वारा निपट गए। एक अन्य सवाल के जवाब में अमर सिंह ने कहा कि उनकी नाराजगी मुलायम सिंह यादव से है। जो लोग उन से निष्ठा के साथ जुड़े थे उन्हें भी कष्ट हुआ। उन्होंने कहा कि मेरे अलावा शिवपाल सिंह यादव को भी बहुत कष्ट हुआ। हालांकि, उन्होंने कबूल किया कि शिवपाल से उनकी बात अभी भी होती है। बता दें कि पिछले साल यूपी विधान सभा चुनावों से पहले ही जनवरी के पहले हफ्ते में सपा के विशेष अधिवेशन में अखिलेश यादव को अध्यक्ष चुना गया था। इसके अलावा शिवपाल सिंह यादव को पार्टी का यूपी प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था। अमर सिंह को भी पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.