इंडिगो एयरलाइन को संसदीय समिति की फटकार


नई दिल्ली: हाल ही के दिनों में हुए यात्रियों के साथ दुर्व्यवहार के मद्देनजर संसदीय समिति ने इंडिगो एयरलाइन को जमकर फटकार लगाई है. संसदीय समिति ने अपनी रिपोर्ट में इंडिगो स्टाफ द्वारा यात्रियों के साथ हाथापाई की घटना की निंदा की और कहा कि एयरलाइन को यात्रियों के अनुकूल और फ्रेंडली होना चाहिए. साथ ही इसके स्टाफ को ‘प्लीज’ और ‘धन्यवाद’ कहना सीखना चाहिए. संसदीय समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि हाल के दिनों में एयरलाइन स्टाफ, ग्राउंड स्टाफ और केबिन क्रू के द्वारा यात्रियों के साथ हाथापाई और गलत व्यवहार की घटनाएं सामने आई हैं. इनमें से कुछ घटनाओं की सूचना मीडिया से मिली और बड़ी संख्या में हुई घटनाओं की रिपोर्ट नहीं की गई. एयरलाइंस में विशेष रूप से इंडिगो में दुर्व्यवहार की घटनाओं का जिक्र करते हुए समिति ने कहा कि एयरलाइंस के कर्मचारियों का यात्रियों के साथ व्यवहार अच्छा नहीं है और इसके लिए केवल कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई पर्याप्त नहीं है.
26 पेज की इस रिपोर्ट में समिति ने कहा कि केवल कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने से इस तरह की घटना के लिए एयरलाइन को दोष मुक्त नहीं होगा. कमेटी ने माना है कि एयरलाइंस का व्यवहार खराब रहा है, एयरलाइंस ने यात्रियों से सही तरह से बातचीत और सहयोग नहीं किया है. समिति ने यह महसूस किया कि एयरलाइन्स को प्रभावित करने वाली समस्याएं निजी नहीं हैं, बल्कि यह संस्थागत है. इंडिगो जैसी संस्था को अपने यात्रियों से निपटने के लिए कंज्यूमर फ्रेंडली अप्रोच अपनाना होगा. समित यह मानती है कि शेयर मार्केट का बड़ा हिस्सेदार होने के नाते इंडिगो को अनपी अंदर झांकने की जरूरत है और उसे अपने ग्राहकों के प्रति कर्मचारियों के खराब व्यवहार और बदसलूकी भरे रवैये की जांच करनी चाहिए. साथ ही समिति ने इस बात पर भी जोर दिया कि कर्मचारियों की अंहकारी और खराब व्यवहार पर रोक लगनी चाहिए.
बताया जा रहा है कि रिपोर्ट तैयार करने से पहले समिति ने विभिन्न एयरलाइनों के अधिकारियों और कर्मचारियों और सीईओ के साथ विस्तृत संपर्क किया था. बता दें कि पिछले दिनों दिल्ली एयरपोर्ट पर एक यात्री के साथ मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था, जिसके बाद से ये मामला मीडियो में खूब उठा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.