हिंसा से नहीं डरती है भाजपा : अमित शाह

अगरतला(एजेंसी): त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सत्तारूढ़ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएम) को शिकस्त देने के लिए इस बार पूरा जोर लगा दिया है। इस कड़ी में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने खुद मोर्चा संभाल रखा है। रविवार को त्रिपुरा पहुंचे अमित शाह ने चुनावी रैली के दौरान सीपीएम सरकार की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि बीजेपी यहां सीपीएम की चुनावी हिंसा से नहीं डरती। इस बार जनता ने बदलाव का मूड बना लिया है और यहां बीजेपी गठबंधन की जरूर जीत होगी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘यहां की जनता को दबाया जाता है, उनको वोट देने के लिए जाने नहीं दिया जाता। मैं सीपीएम के सभी नेताओं को कहना चाहता हूं कि इस बार मुकाबला बीजेपी से है। संभल जाइए, बीजेपी हिंसा से नहीं डरती है।’
उन्होंने यह भी कहा, ‘यहां की जनता को दबाया जाता है, उनको वोट देने के लिए जाने नहीं दिया जाता। मैं पूरी सीपीएम को कहना चाहता हूं कि इस बार मुकाबला बीजेपी से है। संभल जाइए, बीजेपी हिंसा से नहीं डरती है। उन्होंने सीपीएम सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘हम यहां की परिस्थिति में परिवर्तन करना चाहते हैं। यहां लाल भाइयों की सरकार है, कम्युनिस्ट की सरकार है। मैं पूछना चाहता हूं कि क्या यहां के सरकारी कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग के अंतर्गत सैलरी मिलती है क्या?’ शाह ने आगे कहा, ‘हम त्रिपुरा में हो रही हिंसा की राजनीति को विकास की राजनीति में बदलना चाहते हैं। त्रिपुरा में स्टालिन और लेनिन का तो जन्मदिन मनाया जाता है लेकिन विवेकानंद और टैगोर का नहीं। आप यहां बीजेपी की सरकार बनाइए, हम 5 साल में इसे मॉडल स्टेट बना देंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.