मनोज तिवारी एवं डॉ. उदित राज सीलिंग के विरूद्ध 360 गांवों की महापंचायत में हुये सम्मिलित


नई दिल्ली । दिल्ली देहात एवं शहरीकृत गांवों में मॉनिटरिंग कमेटी द्वारा चलवाये जा रहे सीलिंग एवं तोड़फोड़ अभियान के विरूद्ध मंगोलपुरी गांव में 360 गांवों की पंचायत का आयोजन हुआ। जिसकी अध्यक्षता पंचायत के प्रधान चै. रामकरण ने की। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, उत्तर पश्चिम दिल्ली से सांसद डॉ. उदित राज, बाहरी दिल्ली जिला भाजपा अध्यक्ष मनोज शौकीन, निगम पार्षद मनीष चैधरी और पंचायत के महामंत्री वीरेन्द्र पहलवान ने महापंचायत को सम्बोधित किया। मनोज तिवारी ने कहा कि यह बहुत दुखद है कि दिल्ली के किसानों ने विभिन्न चरणों में दिल्ली के विकास के लिए अपनी जमीनें दीं और जिस वक्त वो जमीनें दीं तब दिल्ली के गांवों पर किसी प्रकार का मास्टर प्लान नहीं लगता था। तत्कालीन सरकारों ने गांवों में लोगों को स्वरोजगार विकसित करने के लिए प्रोत्साहन किया पर जब आज गांव के लोग अपने छोटे-छोटे प्लाटों पर सुव्यवसाय करने अथवा किराये की आमदनी विकसित करने का प्रयास कर रहे हैं तब सुप्रीम कोर्ट की मॉनिटरिंग कमेटी उनका जीवन बाधित कर रही है जिसकी हम निंदा करते हैं।
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सारे देश में किसान को अन्नदाता माना जाता है पर दिल्ली के जिन किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी के विकास के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर किया उनके परिवारों की रक्षा के लिए पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों और वर्तमान केजरीवाल सरकार ने कोई प्रयास नहीं किया है। सांसद डॉ. उदित राज ने कहा कि यह दुखद है कि न्याय का मंदिर माने जाने वाले सुप्रीम कोर्ट से मिली शक्तियों का मॉनिटरिंग कमेटी दुरूपयोग कर रही है और राज्य के आवश्यक अंग मानवीयता की पूरी तरह उपेक्षा कर रहा है। उन्होंने कहा कि कानून की स्थापना एवं अतिक्रमण हटाना आवश्यक है पर मॉनिटरिंग कमेटी को यह भी समझना होगा कि दिल्ली के किसानों ने किन परिस्थितियों में दिल्ली के विकास के लिए त्याग किया और उस त्याग को ध्यान में रखते हुये गांवों में हुये निमार्णों को संरक्षण दिया जाना चाहिये।
मनोज शौकीन ने पंचायत को विश्वास दिलाया कि भाजपा कार्यकर्ता गांव वालों की न्यायोंचित मांगों के लिए संघर्ष में हर संभव सहयोग देंगे। मनीष चैधरी ने कहा कि हालांकि आज मॉनिटरिंग कमेटी के आगे हर सरकारी एजेंसी बेबस है पर भाजपा के निगम पार्षद जहां आवश्यक होगा गांव वालों के साथ संघर्ष करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.