मास्टरकार्ड ने कैट के साथ मिलकर भोपाल और नागपुर में लॉन्च किया व्हाट्सएप अभियान

 

नई दिल्ली :  टियर-2 और टियर-3 शहरों में व्यापारियों के बीच डिजिटल भुगतान की स्वीकृति में तेजी लाने के अपने प्रयासों के तहत मास्टरकार्ड ने कैट के साथ मिलकर आज भोपाल और नागपुर में व्हाट्सएप आधारित शैक्षिक अभियान की शुरुआत की है। इस अभियान के तहत, इन शहरों में कैट के सभी सदस्य व्यापारियों को विशेष रूप से तैयार किया गया एक एनीमेटेड वीडियो व्हाट्सएप के जरिये प्राप्त होगा, जो दिन-प्रतिदिन की स्थितियों में डिजिटल भुगतान के फायदों को बताता है और इसके सामान्य मिथकों को दूर करता है। यह अभियान डिजिटल लेनदेन के बारे में सवालों और मुद्दों का समाधान करने का वादा करता है और इस प्रौद्योगिकी को अपनाने वाले पंजीकृत व्यापारियों को त्वरित सहयोग भी उपलब्ध कराता है। अभियान पर बोलते हुए, कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा, “ टियर-2 और टियर-3 शहरों में व्यापारी समुदाय के बीच व्हाट्सएप सबसे लोकप्रिय संवाद माध्यम है। भारतीय व्यापारियों के समुदाय के लिए आवाज के रूप में, कैट को मास्टरकार्ड के साथ इस माध्यम का उपयोग करते हुए टियर-2 और टियर-3 शहरों में नकद के प्रचलित उपयोग के खिलाफ लड़ाई शुरू करने के लिए बहुत खुशी हो रही है।” मास्टरकार्ड की उपाध्यक्ष, मार्केटिंग और कम्यूनिकेशन, साउथ एशिया, मानसी नरसिम्हन ने कहा, “मास्टरकार्ड रिसर्च बताती है कि लगभग 60 प्रतिशत लघु उद्यमी अभी भी डिजिटल भुगतान के फायदों से अनभिज्ञ हैं और इसके उपयोग के बारे में उनके बीच गलत धारणाएं भी हैं। हमारा मानना है कि यह अभियान मास्टरकार्ड द्वारा जनवरी 2018 में लॉन्च किए गए सफल उपभोक्ता अभियान ‘खुल गई लाइफ’ का स्वाभाविक विस्तार है और यह व्यापारियों के बीच कैट की विश्वसनीयता का पूरा फायदा उठाएगा। इस अभियान के जरिये, हमें व्यापारियों के बीच व्यवहारिक बदलाव आने की उम्मीद है और इस प्रकार सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान में हम योगदान कर रहे हैं।”

सामग्री को आकर्षक बनाने के लिए, बॉलीवुड स्टार और मास्टरकार्ड एम्बेस्डर इरफान खान के एनिमेटेड अवतार का वीडियो में इस्तेमाल किया गया है। अपने एम्बेस्डर के रूप में उनके साथ, मास्टरकार्ड ने मार्केटिंग अभियान ‘खुल गई लाइफ’ को भी लॉन्च किया है, जिसका उद्देश्य यूजर के व्यवहार को बदलना और देश में नकद से डिजिटल भुगतान की तरफ हो रहे बदलाव में तेजी लाना है। मास्टरकार्ड और कैट इस परियोजना के परिणामों के लाभ को देखेंगे ताकि देश के अन्य शहरों तक इसे पहुंचाया जा सके। इस साल की शुरुआत में, मास्टरकार्ड और कैट ने ‘डिजिटल रथ’ को सफलतापूर्वक पूरा किया था। यह रथ दिल्ली, लखनऊ, ग्वालियर, झांसी, कानपुर, कोलकाता, पुदुचेरी, नागपुर, भोपाल, पुणे और नवी मुंबई में लगभग 10 लाख व्यापारियों तक पहुंचा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.