नई दिल्ली। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका संजय गांधी 07 जनवरी 2018 को 97 आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को वर्ष 2017-18 हेतु उनकी विशिष्ट उपलब्धियों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करेंगी। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री डॉ. वीरेन्द्र कुमार भी उपस्थित होंगे।

भारत सरकार ने वर्ष 2000-2001 में राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं (एडब्ल्यूडब्ल्यूएस) को पुरस्कृत करने के लिए एक योजना का शुभांरभ किया था। यह पुरस्कार आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रेरित करने और आईसीडीएस योजना के तहत बाल विकास और उससे संबंधित क्षेत्रों में अनुकरणीय सेवा देने के लिए प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है। इस वर्ष से राष्ट्रीय स्तर पर नकद पुरस्कार की धनराशि को 25,000 रूपये से बढ़ाकर 50,000 रूपये कर दिया गया है।

दिशानिर्देशों के अनुसार, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कारों को राज्यों/संघ शासित प्रदेशों द्वारा नामित पुरस्कार विजेताओं को दिया जाता हैं। राष्ट्रीय स्तर पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के नामांकन की संख्या राज्यों/संघ शासित प्रदेशों और परिचालित आईसीडीएस परियोजनाओं के आकार पर निर्भर करती है। पुरस्कारों की संख्या को भी दोगुना कर दिया गया है।

इन पुरस्कारों के लिए राज्यों/संघ शासित प्रदेशों से प्राप्त नामांकन की जांच की जाती हैं और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सचिव की अध्यक्षता में एक स्क्रीनिंग समिति द्वारा इनकी सिफारिश की जाती है। पुरस्कार विजेताओं का चयन माननीय महिला और बाल विकास मंत्री की अध्यक्षता वाली एक चयन समिति के द्वारा किया जाता है। राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार में 50,000 रुपये नकद और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है जबकि राज्य स्तर के पुरस्कार में 10,000 रुपये नकद और एक प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।