नई दिल्ली। दिल्ली में चुनावी रण जीतने के लिए भाजपा नए-नए तरीके अपना रही है। चाय और चौकीदारों के बाद अब सैलून संचालक भाजपा के प्रचार का बड़ा जरिया बनेंगे। बीते तीन दिनों में दिल्ली के 500 सैलून संचालकों से दिल्ली भाजपा के संगठन मंत्री सिद्र्धाथन और प्रदेश सह प्रभारी जयभान पवैया के साथ कई वरिष्ठ ने मुलाकात की।

पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर सैलून संचालकों को बुलाकर सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया गया है। भाजपा की रणनीति है कि सैलून पर सरकार की उपलब्धियों के बारे में चर्चा हो। वहां लोगों का फीडबैक भी लिया जाए। भाजपा ओबीसी मोर्चा को इस काम पर लगाया गया है। गलियों में छोटी-छोटी दुकानों के साथ-साथ मॉल के सैलून भी इसमें शामिल किए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक, सर्जिकल स्ट्राइक की मीडिया के जरिए लोगों को जरूर जानकारी है, लेकिन सरकारी योजनाओं का प्रचार नीचे तक नहीं हुआ है। इसी को निचले स्तर तक पहुंचाने का प्रयास सैलून के जरिए किया जाएगा।

इन दुकानों पर प्रतिदिन बड़ी संख्या में सभी वर्गों के लोग पहुंचते हैं। ऐसे में सैलून संचालक अपनी दुकान पर भाजपा की उपलब्धियों का प्रचार करेंगे। सरकारी योजनाओं के साथ-साथ वे ब्रांड मोदी का प्रचार करेंगे। ओबीसी मोर्चा के प्रदेश संयोजक गौरव खारी ने बताया कि प्रचार में सैलूनों की बड़ी भूमिका होगी। इस तरह की कार्यशाला में पहुंचे सैलून संचालक रमेश बताते हैं कि उन्हें सरकारी उज्ज्वला, जनधन योजना और दूसरी लाभकारी योजनाओं के बारे में बताया गया है। वे अपनी सैलून पर आने वाले ग्राहकों से इसकी चर्चा कर उनका फीडबैक भी लेंगे।