नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार बने प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। देश के सबसे ताकतवर नेता बनकर उभरे नरेंद्र दामोदर दास मोदी ने गुरवार लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री के तौर पर कमान संभाल ली। राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में हजारों लोगों व अनेक खास मेहमानों की मौजूदगी में उन्हें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। मोदी के साथ भाजपा नीत राजग मंत्रिपरिषषद में पीएम मोदी के अलावा कुल 57 मंत्री बनाए गए हैं। मप्र से नरेंद्र सिंह तोमर व थावरचंद गहलोत फिर कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं, जबकि प्रहलाद पटेल को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार व फग्गन सिंह कुलस्ते को राज्यमंत्री बनाया गया है।

मोदी की टीम-2.0 में सबसे चमकता नाम अमित शाह का है, जो पहली बार केंद्र में मंत्री बने हैं। उन्हें राजनाथ सिंह के बाद शपथ दिलाई गई। माना जा रहा है कि वह वित्त मंत्रालय की कमान संभाल सकते हैं। 2014 में कुल 45 मंत्रियों ने शपथ ली थी, इनमें 23 कैबिनेट, 10 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्यमंत्री व 12 राज्यमंत्री थे।

 

मोदी मंत्रिमंडल एक नजर में

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

24 कैबिनेट मंत्री .. राज्य

राजनाथ सिंह उप्र

अमित शाह गुजरात

नितिन गडकरी महाराष्ट्र

सदानंद गौड़ा कर्नाटक

निर्मला सीतारमन तमिलनाडु

रामविलास पासवान बिहार

नरेंद्र सिंह तोमर मप्र

रविशंकर प्रसाद बिहार

हरसिमरत कौर पंजाब

थावरचंद गहलोत मप्र

एस. जयशंकर दिल्ली

रमेश पोखरियाल निशंक उत्तराखंड

अर्जुन मुंडा झारखंड

स्मृति ईरानी उप्र

डॉ. हषर्षव‌र्द्धन दिल्ली

प्रकाश जावड़ेकर राज्यसभा (मप्र)

पीयूष गोयल महाराष्ट्र

धर्मेद्र प्रधान ओडिशा

मुख्तार अब्बास नकवी राज्यसभा

प्रहलाद जोशी कर्नाटक

महेंद्र नाथ पांडेय उप्र

अरविंद सावंत (शिवसेना) महाराष्ट्र

गिरिराज सिंह बिहार

गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान

ये बने राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)

संतोष गंगवार उप्र

डॉ. जितेंद्र सिंह जम्मू-कश्मीर

श्रीपद नाईक गोवा

राव इंद्रजीत सिंह हरियाणा

किरण रिजिजू अरुणाचल

प्रहलाद पटेल मप्र

आरके सिंह बिहार

हरदीप सिंह पुरी पंजाब

मनसुख मांडविया गुजरात

राज्य मंत्री

फग्गनसिंह कुलस्ते मप्र

अश्विनी कुमार चौबे बिहार

अर्जुन राम मेघवाल राजस्थान

जनरल (सेनि) वीके सिंह उप्र

कृष्ण पाल गुर्जर हरियाणा

राव साहब दानवे महाराष्ट्र

जी. कृष्ण रेड्डी तेलंगाना

पुरुषोत्तम रुपाला गुजरात

रामदास अठावले महाराष्ट्र

साध्वी निरंजन ज्योति उप्र

बाबुल सुप्रियो पश्चिम बंगाल

संजीव बालियान उप्र

संजय धोत्र महाराष्ट्र

अनुराग ठाकुर हिमाचल

सुरेश अंगाड़ी कर्नाटक

नित्यानंद राय बिहार

रतनलाल कटारिया हरियाणा

वी. मुरलीधरन महाराष्ट्र राज्यसभा

रेणुका सिंह छत्तीसगढ़

सोम प्रकाश पंजाब

रामेश्वर तेली असम

प्रताप चंद्र सारंगी ओडिशा

कैलाश चौधरी राजस्थान

देबोश्री चौधरी पश्चिम बंगाल

राज्य का प्रतिनिधित्व
पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल के मंत्रिमंडल में लगभग सभी राज्यों को प्रतिनिधित्व देने की कोशिश की गई। कैबिनेट के 24 मंत्रियों में 4 उप्र से, एक गुजरात से, 3 बिहार से, महाराष्ट्र से पांच, उत्तराखंड से एक, झारखंड से दो, पंजाब से एक, कर्नाटक से दो, मध्य प्रदेश से दो, राजस्थान,दिल्ली और ओडिशा से एक-एक मंत्री शामिल हैं। स्वतंत्र प्रभार के 9 में उप्र से दो, हरियाणा से एक, गोवा से एक, बिहार से एक, अरुणाचल से एक, जम्मू-कश्मीर से एक, गुजरात से एक और मध्य प्रदेश से एक मंत्री हैं। वहीं, राज्य मंत्रियों में उप्र से चार, राजस्थान, बंगाल, कर्नाटक, महाराष्ट्र से तीन, एमपी,गोवा, हरियाणा, तेलंगाना, असम, गुजरात, पंजाब, हिमाचल, ओडिशा, छत्तीसगढ़ और बिहार से एक-एक मंत्री हैं।

राज्यसभा और लोकसभा का प्रतिनिधित्व
अब मंत्री परिषद में ऊपरी और निचले सदन के प्रतिनिधित्व की बात करें तो पीएम मोदी को छोड़कर 57 मंत्रियों में 8 राज्यसभा से हैं। 47 लोकसभा से सांसद हैं जबकि एस. जयशंकर और एलजेपी चीफ राम विलास पासवान किसी भी सदन का प्रतिनिधित्व नहीं करते। उन्हें अगले छह महीने के भीतर दोनों में से किसी एक सदन की सदस्यता लेनी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.