पीएम बोले-खुद से बड़ा दल और उससे बड़ा देश

चंदौली। लोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम पड़ाव यानी सातवें चरण में होने वाले चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश में बेहद गंभीर पीएम नरेंद्र मोदी चंदौली में भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष डॉ.महेंद्र नाथ पाण्डेय के पक्ष में विजय संकल्प रैली को संबोधित करने पहुंचे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने धानापुर में मंच से कहा कि आज मैं देख रहा हूं कि उत्तर प्रदेश के साथ देश में क्या हाल हैं। महामिलावटी लोग परेशान हैं। बुरी तरह हार तय देख सपा, बसपा सहित यह तमाम महामिलावटी आज पूरी तरह से पस्त हैं। इन्होंने मोदी हटाओ के नाम से अभियान शुरू किया था। बेंगलुरु में एक मंच पर एक दूसरे का हाथ पकड़कर फोटो खिंचवाई थी। उसके बाद जैसे ही प्रधानमंत्री पद की बात आई तो सब अपना-अपना दावा लेकर अपनी-अपनी ढफली बजाने लगे। यहां तो आठ सीट वाला, दस सीट वाला 20-22 सीट वाला, 30-35 सीट वाला भी प्रधानमंत्री बनने के सपने देखने लगा। इसके इतर देश ने कहा कि- फिर एक बार, मोदी सरकार।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्वांचल को विकास की नई पटरी पर लाने के लिए हम पूरी तरह से जुटे हुए हैं। रोड व रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में व्यापक कार्य हो रहे हैं। यहां पर अब खाद की रैक की सुविधा भी मिल गई है। आप को पता है कि चंदौली सहित पूर्वांचल का क्षेत्र धान के लिए मशहूर है। यहां के शुगर फ्री चावल की बड़ी चर्चा रही है। यहां के पास अब तो बनारस में इंटरनेश्नल राइस रिसर्च सेंटर भी बन गया है। इससे यहां के किसानों को नए और अच्छे बीजों के लिए, विशेषज्ञों की राय के लिए और आसानी होगी। आपके इस सेवक ने पूरी निष्ठा से देश को आशा और विश्वास के रास्ते पर आगे बढ़ाया है। आज देश के युवा साथी को विश्वास हुआ है कि उनके सपने और आकांक्षाएं पूरी हो सकती हैं। आज गरीब से गरीब को भी एहसास हुआ है कि सरकार उसकी बात सुन रही है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्वांचल के प्रवेश द्वार का नमन, मारकंडेय महादेव और बाबा कीनाराम की धरती का नमन, शहीदों की धरती को नमन। आपको भारी संख्या में बूथ पर पहुंचना है। साथियों यह सोचकर घर मत बैठिएगा कि मोदी को सरकार बनाने लायक सीटें मिल जाएंगी। मत भूलिए मोदी के जीत को और भव्य बनाना है। आपका वोट सरकार को मजबूत बनाएगा ताकि देश को और मजबूत बना सकें। सपा बसपा सहित यह तमाम महामिलावटी दल एक हो गए हैं।

मोदी हटाओ के नाम से चुनाव लड रहे हैं। मंच पर एक साथ फोटो खिंचवाई थी जैसे ही पीएम पद की बात आई तो सब अपना अपना दावा लेकर ढपली बजाने लगे। कोई दस कोई बीस कोई तीस पैंतिस सीट वाला भी सपने देखने लगा। देश ने कहा फिर एक बार मोदी सरकार। ऐसा इसलिए हुआ क्योकि देश को कुछ जरुरी सवालों की इन्होंने जरुरत नहीं समझी।

पीएम मोदी ने कहा कि देश को नहीं बता पाए कि 21वीं सदी में स्थिर सरकार कैसे देंगे। सरकारें गिरती रहेंगी तो देश का भला कैसे होगा। देश को नहीं बता पाए कि देश के विकास का क्या माडल है। आतंकवाद और नक्सलवाद पर क्या कहना है। अफवाह और गाली गलौज का माडल रखा है। जातिवाद का मॉडल रखा है। डर का मॉडल रखा है। विरोध का मॉडल देश के सामने रखा है।

सर्जिकल स्ट्राइक का विरोध का कारण बनता है। शहीदों का विरोध और सेना के पराक्रम का विरोध हो रहा है। नागरिक कानून का विरोध, तीन तलाक का विरोध करना और कदम कदम पर मोदी का विरोध करना। आपका सेवक भारत को विकसित और वैभवशाली बनाने का मॉडल लेकर पांच साल से जुटा है। खुद से बडा दल और उससे बडा देश होता है। यहां प. दीनदयाल के मूल्यों को आत्मसात किया है। निस्वार्थ भाव से सेवा का परिणाम है कि आज भारत की दुनिया भर में जयजयकार हो रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.