नयी दिल्ली। आपातकाल के 44 साल पूरे होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यह ऐसा ‘‘दाग’’ है जो कभी मिटने वाला नहीं है और इसे बार-बार इसलिए स्मरण करने की जरूरत है ताकि फिर कोई ऐसा ‘‘पाप’’ न कर सके ।

प्रधानमंत्री मोदी की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को अपने ट्वीट में कहा, ‘‘आज आपतकाल की बरसी है । पिछले पांच वर्षो में देश सुपर इमर्जेंसी से गुजरा है ।’’ राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर लोकसभा में हई चर्चा का जवाब देते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ आज 25 जून है, 25 जून की वो रात :साल 1975: जब देश की आत्मा को कुचल दिया गया था। आज 25 जून को हम लोकतंत्र के लिए प्रति हमारे समर्पण, संकल्प को और ताकत के साथ समर्पित करना होगा।’ उन्होंने कहा, ‘‘ ये दाग कभी मिटने वाला नहीं है। इस दाग को बार-बार इसलिए स्मरण करने की जरूरत है ताकि फिर कोई ऐसा पाप न कर सके । ’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में लोकतंत्र संविधान के पन्नों से पैदा नहीं हुआ है। भारत में लोकतंत्र सदियों से हमारी आत्मा है। किसी की सत्ता चली न जाए सिर्फ इसके लिए, उस आत्मा को कुचल दिया था ।