पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक, पंजाब सरकार से मांगा है जवाब

 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला पंजाब में एक फ्लाईओवर पर करीब 20 मिनट तक रूका रहा। इसे पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक माना जा रहा है। इसको लेकर केंद्रीय गृहमंत्रालय ने पंजाब सरकार से जबाव तलब किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से भी सियासी नेता जवाब और पूरा स्पष्टीकरण मांग रहे हैं।
असल में, फिरोजपुर ज़िले में हुसैनीवाला के पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले में सुरक्षा में चूक हुई। प्रधानमंत्री का काफिला 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसा रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह बठिंडा पहुंचे, जहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था। बारिश और खराब विजिबिलिटी के चलते पीएम ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया। जब मौसम में सुधार नहीं हुआ, तो यह तय किया गया कि वह सड़क मार्ग से राष्ट्रीय मेरीटर्स मेमोरियल का दौरा करेंगे, जिसमें 2 घंटे से अधिक समय लगेगा। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही बता दिया गया था। प्रक्रिया के अनुसार उन्हें रसद, सुरक्षा के साथ-साथ आकस्मिक योजना तैयार रखने के लिए आवश्यक व्यवस्था करनी थी। साथ ही आकस्मिक योजना के मद्देनजर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग से किसी भी आंदोलन को सुरक्षित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा तैनात करनी थी, जिसमें स्पष्ट रूप से कमी दिखी।
पंजाब के डीजीपी द्वारा आवश्यक सुरक्षा प्रबंधों की आवश्यक पुष्टि के बाद वह सड़क मार्ग से यात्रा करने के लिए आगे बढ़े। हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर दूर, जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो वहां कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया था। पीएम 15-20 मिनट फ्लाईओवर पर फंसे रहे। यह पीएम की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी।
गृह मंत्रालय ने सुरक्षा में इस गंभीर चूक का संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। राज्य सरकार को भी इस चूक की जिम्मेदारी तय करने और सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है।
वहीं, पंजाब के फिरोजपुर में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि कई कारणों से प्रधानमंत्री हमारे बीच उपस्थित नहीं हो रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री ने कहा है कि हम ये कार्यक्रम रद्द नहीं स्थगित कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *