कांग्रेस में मची रार, कार्यकारी अध्यक्ष के खिलाफ जिलाध्यक्षों ने खोला मोर्चा

 

नई दिल्ली। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में गठबंधन को लेकर दो गुटों में बंटी कांग्रेस का मामला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पास पहुंच गया है। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने जिला अध्यक्षों की बैठक में गठबंधन के खिलाफ प्रस्ताव रखा था। जिसके बाद कई जिला अध्यक्षों ने लिलोठिया के रवैये पर नाराजगी जताते हुए राहुल गांधी को पत्र लिख मिलने का समय मांगा है। नाराज जिलाध्यक्ष लिलोठिया के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि मंगलवार को प्रदेश कार्यालय में जो हुआ, उसके बाद कांग्रेस के कई जिलाध्यक्ष कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया के खिलाफ लामबंद होने लगे हैं। जिलाध्यक्षों का आरोप है कि लिलोठिया का व्यवहार उनके प्रति ठीक नहीं है। जिलाध्यक्षों ने अपनी शिकायत प्रदेश प्रभारी पीसी चाको से भी की है। दरअसल प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित के गुट के लिलोठिया गठबंधन के खिलाफ माने जाते हैं। वही चाको व अन्य ने गठबंधन की वकालत कर रहे हैं। उधर तीनों कार्यकारी अध्यक्ष जिला अध्यक्षों से चुनाव के सिलसिले में बैठके कर रहे हैं। मंगलवार को इसी कड़ी में लिलोठिया ने जिलाध्यक्षों की बैठक में गठबंधन के खिलाफ प्रस्ताव रख दिया। कुछ जिलाध्यक्षों ने आपत्ति जताई कि जब वे गठबंधन के समर्थन में लिख कर दे चुके हैं

और अब मामला राहुल गांधी के पास है तो इस प्रकार का प्रस्ताव कैसे लाया जा सकता है। इस मुद्दे पर लिलोठिया व उनके बीच तकरार भी हुई। बताया जा रहा है कि कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं की शह पर जिलाध्यक्षों ने राहुल गांधी को पत्र लिखा है कि लिलोठिया का व्यवहार ठीक नहीं है और जिस प्रकार वे धमका रहे है उनके लिए काम करना मुश्किल है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.